अगर आपके खेतो मैं भी डीपी और खंभा है तो आपको 5 से 10 हजार की राशि मिल सकती है

अगर आप भी किसान हैं और खेती से जुड़े हुए हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है क्योंकि इस लेख में आज हम आपको बहुत महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं अगर आपके खेत में भी डीपी या खंबा हैं तो आपको सरकार की तरफ से बहुत बड़ा लाभ दिया जा सकता है यह लाभ कैसे मिलेगा इसकी जानकारी प्राप्त करने के लिए कृपया इस लेख को अंत तक पढ़े एवं व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें।

  • क्या राजस्थान में बिजली का बिल माफ होगा?
  • मैं राजस्थान में बिजली सब्सिडी कैसे प्राप्त कर सकता हूं?
  • राजस्थान सरकार की नई योजना क्या है?
  • घरेलू कनेक्शन कितने किलोवाट का
  • होता है?
  • बिजली कैसे उपलब्ध होती है?
  • एक किलोवाट के कनेक्शन में क्या क्या चला सकते हैं?
  • बिजली के 7 प्रकार क्या हैं?
  • क्या मैं प्रीपेड बिजली को दूर से लोड कर सकता हूं?
  • मैं प्रीपेड बिजली कैसे लोड करूं?

अगर आप के खेतों में भी डीपी या खंभा है तो किसान  अधिनियम 2003 के धारा 57 के तहत बहुत बड़ा लाभ मिल सकता है। इस अधिनियम के तहत किसानों द्वारा कनेक्शन के लिए लिखित आवेदन देने के 30 दिनों के भीतर अगर किसान को कनेक्शन नहीं दिया जाता है तो कानून यह कहता है कि किसान को ₹100 प्रति सप्ताह के हिसाब से मुआवजा देना चाहिए।

इसके साथ ही अगर किसान के ट्रांसफार्मर में कोई फाल्ट आ गया है तो कंपनी को 48 घंटे के अंदर कंपनी उसका काम करके देगी। अगर कंपनी के द्वारा यह काम 50 घंटे में नहीं किया जाता है तो इस एक्ट के तहत ₹50 की अनुशंसा भी की गई है।

विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 57 के तहत विद्युत किसानों को कंपनी के मीटर पर निर्भर रहने की जगह पर अपना स्वयं का स्वतंत्र मीटर लगाने का अधिकार प्राप्त है।  कंपनी मीटर और घर के बीच की दूरी पर लगने वाली केबल की लागत को भी वाहन करेगी ग्राहक अधिनियम और शर्तो में सर्च संख्या 21 में यह बताया गया है।

अगर कोई कंपनी विद्युत को एक खेत से दूसरे खेत तक ले जाना चाहती हैं तो उसे ट्रांसफार्मर स्टेशनों डीपी और खंभों को जोड़ना होगा तो इसके लिए किसान अपनी जमीन का किराया प्राप्त कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *