Land Registration: रजिस्ट्री क्या होती है ? अपने जमीन/ प्लॉट की रजिस्ट्री कैसे करवाएं, देखें पूरी जानकारी

रजिस्ट्री क्या होती है

Jamin Ki Registry Kaise Hoti Hai, जमीन रजिस्ट्री कैसे कराएं, Jamin Ki Registry Kaise Karaye, जमीन रजिस्ट्री कैसे होती है, Jamin Ki Registry In Hindi, जमीन कि रजिस्ट्री के नियम, जमीन नाम कैसे होती है, Jamin Ki Registry Ke Niyam, जमीन रजिस्ट्री कि फीस, Property Registration, जमीन रजिस्ट्री के लिए एप्लीकेशन, जमीन कि रजिस्ट्री ऑनलाइन कैसे कराएं, Jamin Ki Registry Kaise Check Kare, जमीन कि रजिस्ट्री कैसे देखे

Land Registration- अक्सर आपने लोगों को जमीन/प्लॉट खरीदते या फिर बेचते देखा होगा और उसी में एक बात की चर्चा होती हैं जो है रजिस्ट्री लोग अक्सर बोलते हैं कि रजिस्ट्री करवाएंगे तो आज हम बात करने वाले हैं कि आखिर रजिस्ट्री क्या होती है और कैसे करवाई जाती है। आपने भी अपने जीवन में कभी ना कभी जमीन या फिर प्लॉट को खरीदा होगा या फिर भेजा होगा या फिर भविष्य में खरीदेंगे तो आपको यह जानना जरूरी है की रजिस्ट्री क्या होती है और आखिर कैसे करवा सकते हैं।

रजिस्ट्री क्या होती है, और करवाना क्यों जरूरी होती है।

भारत में रजिस्ट्री एक भारतीय कानूनी प्रक्रिया है जिसकी सहायता से एक व्यक्ति जमीन को खरीद सकता है एवं दूसरा व्यक्ति अपनी जमीन को भेज सकता है खरीदी हुई जमीन में पहले मालिक के दस्तावेज हटाकर जिसके जमीन बेची हैं उसका नाम दर्ज करना एवं स्थाई तौर पर जमीन में उसका नामकरण करना रजिस्ट्री कहलाता है। रजिस्ट्री प्रक्रिया के बाद जमीन या फिर प्लॉट में पहले के मालिक का कोई हक नहीं रहता है अतः इसमें पूरा हक जमीन खरीदने वाले का हो जाता है इसके लिए कुछ कानूनी प्रक्रिया करनी पड़ती है जिसकी जानकारी हमें इस लेख में प्राप्त करेंगे।

जमीन की रजिस्ट्री करवाने के लिए प्रयुक्त दस्तावेज

  • पहचान प्रमाण पत्र
  • नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट
  • जमीन खाता प्रमाण पत्र
  • जनरल पावर ऑफ अटॉर्नी
  • जमीन के पेपर
  • अलॉटमेंट लेटर
  • जमी बैंक चेक और पैसे के लेनदेन का विवरण
  • मालिक के दस्तावेज
  • मालिक की उपस्थिति होना अनिवार्य

जमीन रजिस्ट्री के नियम क्या है।

  • जमीन की रजिस्ट्री करवाने के लिए प्रमाणित नक्शा होना आवश्यक है इसके बिना रजिस्ट्री संभव नहीं है।
  • जमीन बेचने वाले आदमी की रजिस्ट्री के दौरान हाथों की सभी उंगलियों के निशान लगने जरूरी है।
  • जो व्यक्ति अपनी जमीन या फिर प्लॉट बेच रहा है उस व्यक्ति के जमा होने वाले दस्तावेज में व्यक्ति का पूरा नाम पता और उम्र का सही विवरण होना चाहिए।
  • जमीन खरीदने बेचने के नियम राज्य सरकार या फिर केंद्र सरकार के द्वारा समय-समय पर बदले जाते हैं राजस्व विभाग द्वारा निर्धारित किए गए नियमों को क्रय विक्रय दोनों पार्टियों को मानना अनिवार्य होता है।

जमीन की रजिस्ट्री किसके द्वारा की जाती है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जमीन या पर प्लॉट की रजिस्ट्री उस एरिया के सब रजिस्ट्रार के द्वारा की जाती हैं इसके बाद सब रजिस्ट्रार द्वारा आपके उन सभी दस्तावेजों की जांच की जाती है अब आपको उन बनवाए गए डॉक्यूमेंट पर रजिस्ट्रार से रजिस्ट्री करवानी होती है जिसमें उसके हस्ताक्षर करवाने होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *